Join Us:
20 मई स्पेशल -इंटरनेट पर कविता कहानी और लेख लिखकर पैसे कमाएं - आपके लिए सबसे बढ़िया मौका साहित्य लाइव की वेबसाइट हुई और अधिक बेहतरीन और एडवांस साहित्य लाइव पर किसी भी तकनीकी सहयोग या अन्य समस्याओं के लिए सम्पर्क करें
शीला जी आज सुबह से बहुत परेशान थी।उनके मन मे उधेडबुन चल रही थीकि वह क्या करेंगी? जिस सम्मान के लिए वह बड़े बेटे -बहू का घर छोड़कर चली आई। read more >>
तुम गीत हो मेरी , तुम्हें गा रहा हूँ में तुम प्रीति हो मेरी ,ये बतला रहा हूँ में जमाने को मोहब्बत का, किस्सा सुना रहा हूँ में read more >>
प्रेम.... मेरे प्रेम को शब्द ना मिलें....! वरना इजहाऱ तो हम भी कर सकते थे......!! read more >>
"अपने आप को ढूंढ- मानव जीवन के मूल उद्देश्य, की पूर्णता है!" -मोती read more >>
उन्हें उनके ख्वाब में रहने दों...! मुझे मेरी हकीकत पसंद है...!! उन्हें उनके श्रृंगार में रहने दों..! मुझे मेरी सादगी पसंद है...!! उन्हें उन read more >>
यह अविनाशी आत्मा रूप शरीर रे, यह अद्भुत मानव तन देव दुर्लभ रे, छन-रे-छन ब्रह्मांड में खेल न्यारा-न्यारा... ये देह को उम्र आत्मा तो अमर रे read more >>
"विदा करो" "अब मैं मौत के काफी नज़दीक आ चुका हूँ,साँसें कुछ गिनती की बची हुई हैं,लोगों की उम्मीद अभी-भी बाकी है,मेरे फिर से जिउठ्ने की,मगर read more >>
"अपने आप को ढूंढ- ईश्वर साक्षात्कार योग यही!" -मोती read more >>
Join Us: