Join Us:
20 मई स्पेशल -इंटरनेट पर कविता कहानी और लेख लिखकर पैसे कमाएं - आपके लिए सबसे बढ़िया मौका साहित्य लाइव की वेबसाइट हुई और अधिक बेहतरीन और एडवांस साहित्य लाइव पर किसी भी तकनीकी सहयोग या अन्य समस्याओं के लिए सम्पर्क करें
सुने,माशुमीयत के चर्चे, दिल से नाखुश और इस जहां में ढुंढता किसे........! मेरी हर कोशिश नाकाम कर खुदा में बैठा रहूं । बना के उसकी तस्वीरों क read more >>
पेरो तले रौंदना जो लोग किसी की शराफत को पेरो तले रौंदते है, एक दिन खुद भी इसी तरह रौंदे जाते है। read more >>
वो मेरी कभी न हो पाएगी जनता हूँ की वो मेरी कभी न हो पाएगी, न जाने फिर भी क्यूं उस का इंतेजार, हर पल करता है यह दिल। read more >>
कुछ लोगो के वजूद दिल मे समाए रहते है, ऐसे लोगो की मोजूदगी की जरूरत नहीं। read more >>
कुछ इस तरह मेरी मोहब्बत का सौदा हुआ, तामाशीन बन खड़े रहे और अपनी आंखो से देखते रहे, उसे अपने से बहुत दुर हमेशा-हमेशा के लिए जाते हुए। read more >>
झुठ है मोहब्बत बिकाऊ नहीं, बड़ी-बड़ी मोहब्बतों को, पैसो तले टूटता देखा है मेंने। read more >>
फर्क तो लोगो की सोच का है, कहीं हम बहुत अच्छे है, तो कहीं हम बहुत बुरे है। read more >>
कुछ लोगों की मोजूदगी में भी, अकेलापन महसूस होता है, और कुछ लोग साथ न हो, तब भी उनके होने का अहसास होता है। read more >>
इश्क में इज़हार-ए-मोहब्बत आसान नहीं, जो लगता जितना आसान है, उतना है मुश्किल। read more >>
Join Us: