Notification

महबूब मेरे-महक-अंसारी

महबूब मेरे महबूब मेरे महबूब मेरे महबूब मेरे
मेरी आंखो मे तेरे सपने हसीं हैं
तु आसमां है मेरा तू ही ज़मी है

महबूब मेरे महबूब मेरे महबूब मेरे महबूब मेरे
मेरी आंखो मे तेरे सपने हसीं है
तु आसमां है मेरा तू ही ज़मी है महबूब मेरे

तु हो तो सज जाती है सेज सपनो की
तु हो तो सज जाती है सेज सपनो की
मुझको तेरी बाते अब लगती अपनो सी
यंहि मरना भी है मुझको मुझे जीना भी यंहीं है

महबूब मेरे महबूब मेरे महबूब मेरे महबूब मेरे
मेरी आंखो मे तेरे सपने हसीं है
तु आसमां है मेरा तू ही ज़मी है महबूब मेरे

अरमां मुझको कब तेरी दौलत शौहरत का
अरमां मुझको कब तेरी दौलत शौहरत का
मुझको तेरा साथ है हीरे माणिक सा
जहां पर है तेरी राहें मेरी मंज़िल भी वहीं है

महबूब मेरे महबूब मेरे महबूब मेरे महबूब मेरे
मेरी आंखो मे तेरे सपने हसीं है
तु आसमां है मेरा तू ही ज़मी है महबूब मेरे

देख ले तू चाहे मुझको आज़मा कर के
देख ले तू चाहे मुझको आज़मा कर के
तडपाओ ना मुझको यूं दूर जाकर के
सारा जहाँ लगे झूठा मुझको तो बस तुझपे यक़ीं है

महबूब मेरे महबूब मेरे महबूब मेरे महबूब मेरे
मेरी आंखो मे तेरे सपने हसीं है
तु आसमां है मेरा तू ही ज़मी है महबूब मेरे

Leave a Comment

Connect with



Join Us on WhatsApp