Notification

आ गई माँ शेरोवाली-परमानंद निषाद

आ गई माँ शेरोवाली

आ गई माँ शेरोवाली,
सबकी दुख मिटाने को।
अन्नदायिनी,अन्नपूर्णा हो,
तू स्नेह भरी भवानी हो।
माँ है मेरे शेरोवाली,
शान है मांँ की बड़ी निराली।
किसी से क्या घबराना जब सर पर,
माँ शेरोवाली का हाथ हो।
जो माँ दुर्गा का सच्चे मन से करे,
उपासना उसके कटे कलेश,
श्रध्दा भाव कभी कम ना करना,
दुःख में हँसना गम ना करना।
माँ दुर्गा के कदम आपके घर में आएं,
आप खुशहाली से नहाएं।
आंसू भरी आंखों से किस विधि दर्शन पाऊं माँ,
माँ मेरे संताप भरा है मैं कैसे मुस्काऊं माँ।
आजा एक बार माँ पुत्र ये पुकारता,
आने को तेरे माँ नित बाट में निहारता।
आ गई माँ शेरोवाली,
सबकी दुख मिटाने को।

परमानंद निषाद “प्रिय”
ग्राम- निठोरा,पोस्ट- थरगांव
तहसील- कसडोल,जिला- बलौदा बाजार (छत्तीसगढ़)
ईमेल आईडी- [email protected]

Leave a Comment

Connect with



Join Us on WhatsApp