Notification

धरती पुत्र के सपनों का हत्यारा कौन?? आपदा या लोकतंत्र, बेरोजगारी के लिए जिम्मेदार कौन? युवा या सरकार, मोदी सरकार के पांच सालों पर एक सवाल- निजी सपनों की चाह या विकास की राह-दिलबाग सिंह

धरती पुत्र के सपनों का हत्यारा कौन??
लोकतंत्र या आपदा ।
हर कोई शुकून से सोता है,मां की गोद में सिर रखकर!
धरती पुत्र अन्न उगाता है, धरती मां का सीना चीर कर!!
मां अपने बच्चों का दर्द रखतीं है,अपने आंचल में समेट कर!
धरती पुत्र का दर्द बरसता है मां की छाती पर पसीना बन कर!!
कोई भी आपदाओं से हो सामना,तो मां बच्चों की ढाल बन जाती है !
धरती पुत्र के लिए तो ये आपदाएं,एक काल बन जाती है !!
कभी ज्यादा बारिश, तो कभी सुखा अकाल पड़ता है !
मेहनत करके भी किसान आढ़तियों का कर्जदार बनता है !!
दिन का चैन रातों की नींद खोकर किसान,सबका पेट भरता है !
कुछ आपदाओं से,कुछ लोकतंत्र से,मदद ना मिलने के कारण ही किसान आत्महत्या करता है !!
अमीर हो या गरीब हो हर कोई पेट भरकर शुकून से सोता है !
धरती पुत्र के उगाएं अन्न की ताकत से ही तो फौजी बार्डर पर जंग लड़ता है !!
हर कोई अपने सपने पुरे करने की होड़ लगाएं बैठा है!
धरती पुत्र के भी कुछ सपने होंगे उनको क्यो नहीं कोई पुछता है !!
धरती पुत्र के हाथों में ही , हमारे देश के भविष्य की जान है !
आत्महत्या करने से इन्हें बचा लो,जान है तो जहान है।।

बेरोजगारी के लिए जिम्मेदार कौन- युवा या सरकार
बेरोजगारी बन गई है एक महामारी!
युवाओं की देखी बढ़ती ये लाचारी!!
कुछ सरकार की बनती है जिम्मेदारी !
कुछ युवाओं में बढ़ गई है कामचोरी !!
कुछ शिक्षक और माता-पिता की भी है हिस्सेदारी!
प्रैशर देकर नौकरी के लिए करवाते रहते हैं तैयारी !!
एक होड़ सी लगी है युवाओं में नौकरी हो सरकारी!
छोटी- मोटी नहीं चाहिए, करनी है अफसरदारी !!
नॉलेज वाले रह जाते हैं जब चलती है रिश्वतखोरी !
ज्ञान चुप हो जाता है जब पैसे की चलती है कालाबाजारी !!
माना की सरकार नहीं खोलती भर्तियां इतनी सारी !
जिससे हर युवाओं की मिटे सारी बेरोजगारी !!
नौकरी के अलावा और भी बहुत है रोजगार !
युवा अगर चाहे तो कोई नहीं रहेगा बेरोजगार !!
सिखा काम हाथ का कभी नहीं जाता है बेकार!
सिखा ज्ञान किताब का कर लें कोई व्यापार !!
हर कोई सरकारी नौकरी से नहीं होता है पार !
कुछ करने की लग्न हो जिसमें वो कभी नहीं रहेगा बेरोजगार !!
मोदी सरकार के पांच सालों पर एक सवाल ?? निजी सपनों की चाह या विकास की राह
मोदी सरकार ने सपनों की चाह नहीं विकास की राह को चुना है!
भारत देश को एक समृद्ध देश बनाने का सपना बुना है!!
नोटबंदी करके काला धन बाहर निकलवाया है !
भ्रष्टाचार के पुजारियों पर अंकुश लगाया है!!
मुस्लिम औरतों के भविष्य को तीन तलाक के हथियार से बचाया है!
सर्जिकल स्ट्राइक, एयर स्ट्राइक, और 370एक्ट धारा लगाया है!!
आंतकवाद पर लगाई लगाम, पाकिस्तान को ललकारा है !
फौजी भाइयों का बदला लेने के लिए चीन पर सारा गुस्सा उतारा है !!
गरीब किसान हो या छोटे व्यापारी सबको मोदी ने हक दिलवाया है !
नौकरी प्राइवेट हों या सरकारी सब ने मोदी की योजनाओं का लाभ उठाया है !!
औरत, बच्चे, बुड्ढे या हो बेरोजगार, मोदी बना सबका सहारा है !
हर बार मोदी सरकार,यही भारत की जनता का एकजुट नारा है !!

Leave a Comment

Connect with



Join Us on WhatsApp