Notification

अपने लेख प्रकाशित करने के लिए यहाँ क्लिक करें!

औरत कोई वस्तु नही – नेहा श्रीवास्तव

हमारे समाज मे औरत का अस्तित्व क्या है. क्या आप समझ पाये है कि औरत क्या है. क्या ये पुरुष प्रधान समाज समझ पाया है औरत क्या है . ये समाज तो औरत का मतलब तक नही समझ पाया . आज भी हमारे समाज मे औरतो को वो सम्मान नही मिल पाया है जिसकी वो हकदार होती है. इस दकियानुसी समाज ने औरतो को त्याग की मुरत बनाकर छोड दिया है.एक औरत बेटी होती है ,बहन होती है,पत्नी होती है माँ होती है उसे कई किरेदार निभाने पडते है. वह इंसान भी होती है. उसका खुद का भी अस्तित्व है .सारे त्याग उसी को क्यो करने पडते है? पिता के घर मे स्वछन्दता से जिती है.पति के घर मे क्यो नही जी पाती.क्यो उसको अपनी ख्वाहिशो का हनन करना पडता है. क्यो वह पति के सिर्फ अधीन होकर रह जाती है. औरत सिर्फ स्पर्श की वस्तु नही एक सुखद अनुभुती होती है. आज औरत नही तो ये संसार नही होता. एक पुरुष जो सम्मान अपनी बहन को देता है वह राह चलती स्त्री को क्यो नही देता. एक बार सम्मान कि नजर से देख कर देखो. औरत वह जजबा है जो इतिहास बदल दे. एक औरत को पुरुष कि तरह सम्मान मिलनी चाहिये. वह जननी है तो अंत भी.औरत बुंद है तो समन्दर भी. चेहरे पर बिना शिकन लाये खुशी के साथ अपनी किरेदार अदा करती है. जिस दिन एक पुरुष औरत को अपने अधीन ना समझकर उसको इज्जत देना शुरू कर देगा ,मेरा दावा है दुनिया कुछ अलग ही नजर आयेगी.सारी खूबसूरती तो नजरो मे होती है औरत तो सिर्फ औरत होती है.

Neha Srivastavaनेहा श्रीवास्तव
उत्तर प्रदेश (बलिया)

80 views

Share on

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on email
Email
Share on print
Print
Share on skype
Skype
Neha Srivastava

Neha Srivastava

मैं नेहा श्रीवास्तव बलिया उत्तरप्रदेश की निवासी हूँ। मैं श्रृंगार रस की कवित्री हूँ। मैंने B.ED Science में शैक्षणिक योग्यता प्राप्त की है। मैंने साहित्य लाइव रंगमंच 2018 (राष्ट्रीय स्तर पर हिंदी प्रतियोगिता) में द्वितीय स्थान प्राप्त किया है।

4 thoughts on “औरत कोई वस्तु नही – नेहा श्रीवास्तव”

  1. 610551 17292Hello, Neat post. There is an problem along with your web site in web explorer, could test thisK IE still may be the marketplace leader and a huge portion of other folks will miss your magnificent writing because of this difficulty. 65060

  2. 427253 472716Wow, incredible weblog format! How lengthy have you been blogging for? you make running a blog glance easy. The full glance of your website is amazing, as smartly the content material material! 341080

Leave a Reply

Join Us on WhatsApp