Join Us:
20 मई स्पेशल -इंटरनेट पर कविता कहानी और लेख लिखकर पैसे कमाएं - आपके लिए सबसे बढ़िया मौका साहित्य लाइव की वेबसाइट हुई और अधिक बेहतरीन और एडवांस साहित्य लाइव पर किसी भी तकनीकी सहयोग या अन्य समस्याओं के लिए सम्पर्क करें

akhilesh Shrivastava

akhilesh  Shrivastava

akhilesh Shrivastava

@ akhilesh-shrivastava
, Madhya Pradesh

I am Advocate at jabalpur Madhaya Pradesh. I am interested in sahity and culture and also writing kavita /lekh in local news papers and other magazines in time to time..

  • Followers:
    6
  • Following:
    4
  • Total Articles:
    67
Share on:

My Articles

*परिवार* परिवार अब एकल हो रहे हैं घर कब मकान हो रहे हैं। दादा दादी अब खो रहे हैं नाना नानी किस्से हो रहे हैं।। मामा मौसी अब नहीं जानत read more >>
*परिवार* परिवार अब एकल हो रहे हैं घर कब मकान हो रहे हैं। दादा दादी अब खो रहे हैं नाना नानी किस्से हो रहे हैं।। मामा मौसी अब नहीं जानत read more >>
*आंखों से आंसू क्यों निकलते हैं* *रचयिता* *अखिलेश श्रीवास्तव एडवोकेट जबलपुर * आंखों से आंसू क्यों निकलते है आत्मा दुखी हो तो आंसू निक read more >>
*एक साल निकल गया* जिंदगी का एक साल यूं ही निकल गया अभी शुरू हुआ था अभी खत्म हो गया।। कुछ नये परिचितों से मुलाकात तो हुई जो अपने बिछड़ read more >>
*। मां का आंचल* मां ने आंचल फैलाकर प्रभु से हमको पाया है। आंचल में छुपाकर मां ने नौ माह कोख में पाला है।। मां का आंचल पकड़कर हमने read more >>
Join Us: