छोड़ गये तुम मुझको – मुनमुन सिंह

छोड़ गये तुम मुझको – मुनमुन सिंह

प्रेम रोग लगा छोड़ गये तुम मुझको
मैंने क्या गुनाह किया था।
तुमने किसको पा लिया था
प्रेम रोग लगा छोड़ गये तुम मुझको
मैंने था तुझसे ही नाता जोड़ा।
तुमने है मुझसे ही नाता तोड़ा।
प्रेम रोग लगा छोड़ गये तुम मुझको
तुमने ही लाया था कुछ वर्षों के लिए बहार।
अब तुमने ही ला दिया है दुःखों का संसार।
प्रेम रोग लगा तुम छोड़ गये मुझको

— मुनमुन सिंह

0

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account