“वो बदले या बदली मेरी जिंदगी – जितेंद्र कुमार शर्मा

“वो बदले या बदली मेरी जिंदगी – जितेंद्र कुमार शर्मा

एक वक़्त था जब उनके लिए मेरे पास और मेरे लिए उनके पास वक़्त ही वक़्त था ।।आज में तो इंतज़ार करता हु सायद उनके पास वक़्त की कमी हो गयी है ।।
एक पल भी बात नही होने पर जान सी निकल जाती थी उसकी ,आजकल हफ़तो तक बात नही होती ।।
जिसके लिए मेरी खुसी ही सब कुछ थी आज उसको पता ही नही की ।की केसा हु में ।।।
अब तो लगता है की मेरा वो एक अच्छा सपना था जो नींद से उठा और टूट गया ।।
जिसने कहा कि तुम हो तो में हु,तुमसे ही मेरी जिंदगी है ,,अब तो उसे ये भी भी नही पता कि में हु की नही ।।।।
जो कल तक बोलते थे कि तेरे बिना ये सांसेे भी नही हमे गवारा,,,आज उन्हें पता नही की क्या हाल चाल है हमारा।।
जिसका कल तक सब कुछ था में ,,आज लगता है की कुछ भी नही हु।

Jitendra Kumar Sharmaजितेंद्र कुमार शर्मा
राजस्थान

7+

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account