Home » Anjana Jha

Tag: Anjana Jha

संदेश-अंजना झा

अपने युवा होते बच्चों के लिए ये संदेश : जीवन की विषमपूर्ण विसंगतियों में अविरल प्रवाह बन जीना सीखो हे मानव के राजहंस तुम द्रशिष्ठ

Read More »

कचरा वाला- अंजना झा

बापू का जन्मदिन और स्वच्छता अभियान आयोजित करने से पूर्व बस एक बार मेरी इस कविता को मानवीय भावनाओं के साथ पढ़कर अपना विचार दिजिये

Read More »

महिलाओं में मेकअप का जुनून-अंजना झा

महिलाओं को ईश्वर ने वाकई बहुत तसल्ली से बनाया। हर सुंदरता हर कोमलता उसमें भर दी। जहां इकट्ठी होती हैं चार महिलाएं वाकई बागों में

Read More »

स्त्रीत्व का सम्मान- अंजना झा

मेरी पूर्व रचना से पाठकों को ये गलतफहमी हो गयी कि मैं पुरुष वर्ग की विरोधी हूँ पर वास्तविकता यह नहीं है। बल्कि मैं उस

Read More »

देखो ये है मेरा समर्पण – अंजना झा

देखो ये है मेरा समर्पण जलती हुई मोमबत्ती उद् घोषित ये कर रही सार्थकता सिद्ध होगी तभी जब स्वयं को जलाकर अनंत रश्मियां बिखेरते हुए

Read More »

मानसिक बलात्कार – अंजना झा

ब अपनो के खिलाफ आवाज उठाई जाती है तो क्या बीतता है जरा देखिए।।।।। मानसिक बलात्कार कौन करेगा भरपाई उसके​,​ मानसिक बलात्कार का ।।। कचहरी

Read More »