शिक्षा बड़ी उदार By Sachin A. Pandey

शिक्षा बड़ी उदार By Sachin A. Pandey

शिक्षा बड़ी उदार

घर-घर में जिसे मिला मान,
करती सबका है कल्याण;
जिसके बल पर चले घर-बार,
शिक्षा बड़ी उदार।

गांधी,नेहरू और कलाम,
इसकी बदौलत बने महान;
दूर करे अज्ञानी अंधकार,
शिक्षा बड़ी उदार।

दीन को दिलाती यह पहचान,
इसके आगे रंक-न-राजा;
सभी को देती मान समान,
तलवार से अधिक है इसमें धार,
शिक्षा बड़ी उदार।

हुए बड़े-बड़े अनुसंधान,
इसीसे निर्मित महान विज्ञान;
मूल है इसकी शिष्टाचार,
शिक्षा बड़ी उदार।

इसीसे होता भाषा-ज्ञान,
इससे बड़ा नहीं कोई दान;
इसीसे आरंभ विकाश का प्रसार,
शिक्षा बड़ी उदार।
– सचिन अ. पाण्डेय

0
comments
  • Wonderful!!
    Siksha ka udhaarr!

    0

  • Leave a Reply

    Create Account



    Log In Your Account