मौत बस बुलाती है,,।। - कविता पेटशाली

मौत बस बुलाती है,,।।     कविता पेटशाली     आलेख     समाजिक     2022-08-16 23:20:31         49976           

मौत बस बुलाती है,,।।

इस मौत को बहुत करीब से देखा है , मैंने,।  
                                                                                        न ही
यह मुस्कुराती हैं,न ही यह किसी को गले
लगाती है, न ही यह किसी को मानती है अपना,
बस यह बुलाती है ,किसी को अपने आगोश
में,और व्यक्ति उतर जाता है,इसके घाट,।
कविता पेटशाली 

Related Articles

टमाटर खाओ ,कमाकर खाओ
Danendra
एक भिखारी दोनो हाथ में एक एक कटोरा लेकर भीख मांग रहा था । मैंने एक कटोरे में 1 रूपये डाला और पूछा यह दूसरा कटोरा कि
38831
Date:
16-08-2022
Time:
19:23
पहचान ही क्या
Swami Ganganiya
जो पहले ही कदमो में लडखडा जाये वो चाल ही क्या ? जो तेज भी दौडे और मंजिल तक न पहुँचे वो रफ्तार ही क्या ? जो चहरा देखकर म
33403
Date:
16-08-2022
Time:
20:34
ज्ञानी कौन है ?
Gunjesh Sharma
ज्ञानी कौन है? ये प्रश्न हमेशा से ही बुद्धिजीवी वर्ग के लोगो मे उठता रहा है। एवं बुद्धिजीवी वर्गके लोग ज्ञान क
49963
Date:
16-08-2022
Time:
18:58
Please login your account to post comment here!