Join Us:
20 मई स्पेशल -इंटरनेट पर कविता कहानी और लेख लिखकर पैसे कमाएं - आपके लिए सबसे बढ़िया मौका साहित्य लाइव की वेबसाइट हुई और अधिक बेहतरीन और एडवांस साहित्य लाइव पर किसी भी तकनीकी सहयोग या अन्य समस्याओं के लिए सम्पर्क करें

एक दोस्त ऐसा भी - प्यार से भी पवित्र रिश्ता

Mithun anuragi 30 Mar 2023 कहानियाँ दुःखद पवित्र रिश्ता, प्यार से भी पवित्र रिश्ता, दोस्ती 91277 0 Hindi :: हिंदी

प्यार से भी पवित्र रिश्ता दोस्ती का होता है | प्यार धोखा दे सकता है ,छोड़कर जा सकता है लेकिन दोस्त साथ निभाने वाला हो तो दोस्ती उम्र भर निभाई जा सकती है |लेकिन कुछ दोस्त ऐसे भी होते हैं जरा गौर कीजिए |


मयंक और राहुल दो दोस्त हैं | दोनों एक ही कक्षा में पढ़ते हैं | साथ में हर कम करते हैं | मयंक थोडा जिद्दी स्वभाव का है , जवकि राहुल स्वार्थी है | अपने मन की बात छुपाने वाला और थोडा सा ईष्र्यालु है | मयंक मोनिका नाम की लड़की से बहुत प्रेम करता है लेकिन मयंक इस बात से खुश नहीं है बो मन ही मन इस बात से मयंक से ईष्र्या करता है |



एक बार की बात है राहुल मयंक को कॉल करता है , हेलो मयंक तुम कहाँ हो , प्लीज जल्दी से शहर के हॉस्पिटल आ जाओ | 
मयंक -    राहुल क्या बात है ? मैं अभी आ रहा हूँ | तुम घवराओ मत सब कुछ ठीक हो जाएगा |

 थोड़ी देर बाद मयंक शहर के होस्पीटल जाता है और बो देखता है , राहुल की माँ और बहन दोनों रो रहीं है राहुल पास में उदास खड़ा है | मयंक राहुल के पास गया और राहुल क्या बात है मुझे तो बता ? 

मयंक राहुल को गले लगा लेता है और राहुल रोने लगता है और रोते हुए बोलता है यार पिताजी की  किडनी खराव हैं और डॉक्टर ने ऑपरेशन के लिए बोला है | मैं इतने कम समय में इतने पैसे कहाँ से लाऊंगा |

मयंक -    राहुल तेरे पापा को कुछ नहीं होगा तू थोड़े से पैसे जुटा दे ऑपरेशन के लिए और रही बात किडनी की सो मैं अपनी एक किडनी पापा को दे दूंगा |

राहुल -    सच में ! मयंक तू एक किडनी दे सकता है | 

मयंक    -    हाँ राहुल मैं सच बोल रहा हूँ | तू  पैसे का इंतजाम कर मैं डॉक्टर से बात करता हूँ |




डॉक्टर-     बधाई हो राहुल ऑपरेशन सफल हुआ | आपके पिताजी अब विल्कुल ठीक हैं लेकिन तुम्हारे दोस्त मयंक की तवियत ठीक नहीं है | किडनी दान देने की वजह से उन्हें खून की कमी हो गयी है | उन्हें ब्लड देना पड़ेगा | अगर तुम अपने दोस्त की जिन्दगी बचाना चाहते हो ब्लड का इंतजाम कीजिए |
राहुल-    डॉक्टर साहव मैं अधिक पैसे नहीं खर्च कर सकता आप उसे नार्मल पानी की बोतल लगा दीजिए | बो अपने आप ठीक हो जाएगा | खून का इंतजाम मैं नहीं कर सकता |




इतना कह कर  राहुल हॉस्पिटल से छुट्टी लेकर अपनी फेमिली के साथ घर आ जाता है | ईश्वर की कृपा से मयंक की भी हालत सुधर जाती है | 


एक दिन मयंक कॉलेज जाता है तो उसे पता चलता है की उसकी क्लास के लड़के सुधीर का किसी ने मर्डर कर दिया है और इस केस का गवाह उसका दोस्त राहुल है | अचानक कॉलेज में पुलिस आ जाती है और साथ में राहुल है और राहुल चिल्ला चिल्ला कर पुलिस से बोल रहा है की सर सुधीर का मर्डर मेरे दोस्त मयंक ने मेरी आँखों के सामने किया | 

पुलिस बाले राहुल की बात मान  लेते हैं और मयंक को गिरफ्तार कर जेल ले जाते हैं |



कुछ समय बाद मयंक की जमानत हो जाती है | मयंक राहुल के पास जाता  है और कहता है मैंने तुम्हारा क्या बिगाड़ा था जो तुमने मुझे झूठे इल्जाम में फंसा दिया |
राहुल-    यार मैं क्या करता ? सुधीर तेरी गर्लफ्रेंड को अपनी गर्लफ्रेंड बनाना चाहता था और मोनिका भी सुधीर को पसंद करने लगी थी | इसलिए मैंने सुधीर  को मार दिया |

मयंक -    राहुल तुम झूठ बोल रहे हो मोनिका कभी एसा नहीं कर सकती | मैं उससे पूछूंगा|

मयंक वहां से गुस्से में चला जाता है | वह सीधे मोनिका के पास जाता है और पूछता है , मोनिका सच्चाई क्या है राहुल ने सुधीर का खून क्यों किया ?

मोनिका -    मयंक तुम राहुल का साथ छोड़ दो वह अच्छा  लड़का नहीं है उसने मुझे ब्लैकमेल किया और जब मैंने मन कर दिया तो उसने आपको सुधीर के खून के इल्जाम में फंसा दिया |

मयंक -    मोनिका तुम सच में बहुत अच्छी हो और मुझसे बहुत प्यार करती हो | अब मैं राहुल के साथ नहीं रहूँगा | इसे दोस्त से तो दुश्मन अच्छा होता है | 




                                written by

                                          Shayar Mithun Anuragi 

Comments & Reviews

Post a comment

Login to post a comment!

Related Articles

लड़का: शुक्र है भगवान का इस दिन का तो मे कब से इंतजार कर रहा था। लड़की : तो अब मे जाऊ? लड़का : नही बिल्कुल नही। लड़की : क्या तुम मुझस read more >>
Join Us: